लो अब योगी राज में घोटाला, होमगार्ड भर्ती में बड़े घोटाले का भंडाफोड़, भर्तियां निरस्त, दो बड़े अफसरों पर गिरी गाज

भर्ती के लिए दिया गया समय 30 दिन, 15 दिन में ही प्रक्रिया पूरी, डीजी मुख्यालय की भूमिका भी संदिग्ध

शासन से अनुमति लिए बिना इलाहाबाद में होमगार्ड के पद पर 70 जवानों की भर्ती करने का बड़ा घोटाला सामने आया है। शासन की जांच में गड़बड़ी सामने आने के बाद पूरी भर्ती प्रक्रिया निरस्त करते हुए इलाहाबाद में तैनात होमगार्ड विभाग के कमांडेंट को निलंबित कर दिया गया है। वहां के डिप्टी कमांडेंट जनरल को भी तत्काल प्रभाव से हटा दिया गया है।

पिछले महीने डीजी होमगार्ड सूर्य कुमार के निर्देश पर होमगार्ड विभाग में 85 पदों पर भर्ती प्रक्रिया शुरू की गई थी। इसमें 70 पदों पर आनन फानन में भर्ती प्रक्रिया पूरे करते हुए चयनित जवानों को प्रशिक्षण के लिए भी बुला लिया गया। आरोप है कि इस भर्ती के लिए शासन से अनुमति नहीं ली गई।भर्ती के लिए रेडियो फ्रिक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन (आरएफआईडी) चिप के साथ दौड़ प्रक्रिया को अंजाम देने वाली एजेंसी की ओर से भी अभ्यर्थियों को नंबर देने में मनमानी की गई।शासन को इसकी शिकायत मिलने पर प्रमुख सचिव होमगार्ड कुमार कमलेश ने पूरे मामले की जांच के लिए फैजाबाद के डिप्टी कमांडेंट जनरल शरत् चंद्र त्रिपाठी और होमगार्ड मुख्यालय के वरिष्ठ स्टाफ अधिकारी सुनील कुमार को जांच के लिए इलाहाबाद भेजा। जांच के दौरान पता चला कि इस भर्ती प्रक्रिया में पूरी तरह से मनमानी की गई है।रिपोर्ट मिलने के बाद शासन ने पूरी भर्ती प्रक्रिया को निरस्त कर दिया और इलाहाबाद के कमांडेंट प्रिय व्रत सिंह को निलंबित कर दिया गया। वहीं, डिप्टी कमांडेंट जनरल एसी उपाध्याय को होमगार्ड मुख्यालय लखनऊ से संबद्घ कर दिया गया। उपाध्याय के स्थान पर जांच अधिकारी शरत् चंद्र त्रिपाठी को ही इलाहाबाद का अतिरिक्त चार्ज दे दिया गया। वहीं कमांडेंट के स्थान पर भदोही जिले के कमांडेंट अमित कुमार पांडेय को इलाहाबाद भेज दिया गया।

भर्ती के लिए दिया गया समय 30 दिन, 15 दिन में ही प्रक्रिया पूरी, डीजी मुख्यालय की भूमिका भी संदिग्ध

सूत्रों के मुताबिक होमगार्ड मुख्यालय की ओर से 28 मार्च को पत्र भेज कर सभी जिलों में 30 दिनों के अंदर रिक्त पदों पर भर्ती प्रक्रिया पूरी करने के निर्देश दिए गए थे। इलाहाबाद ने यह प्रक्रिया 15 दिन से भी कम समय में पूरी कर ली।होमगार्ड मुख्यालय के डिप्टी कमांडेंट जनरल एसके सिंह ने सभी जिलों को निर्देश दिए कि इलाहाबाद की तर्ज पर पूरे प्रदेश में भर्ती प्रक्रिया पूरी की जाए। सूत्रों का कहना है कि दौड़ परीक्षा कराने वाली एजेंसी से लेकर पूरी भर्ती प्रक्रिया होमगार्ड मुख्यालय के निर्देश पर की गई है।मामले पर होमगार्ड एवं नागरिक सुरक्षा राज्यमंत्री अनिल राजभर का कहना है कि “इलाहाबाद में भर्ती प्रक्रिया में गड़बड़ी की जानकारी मिली है। भर्ती प्र्रिकया को निरस्त किया जा रहा है। कमांडेंट के निलंबन की कार्रवाई की जा रही है। अभी मैं क्षेत्र में हूं इसलिए इससे अधिक जानकारी मेरे पास नहीं है।”

खबर से जुड़ी शिकायत और सुझाव के लिए यहाँ क्लिक (CLICK) करें

Leave a Reply

%d bloggers like this: