जानिए कहाँ गिरे 150 -150 ग्राम के ओले

चक्रवात की जद में आए सैकड़ों पेड़ धराशायी

गोंडा का छपिया व बभनजोत में करीब 15 किमी का इलाका बृहस्पतिवार को चक्रवाती तूफान से कराह उठा। चक्रवात की जद में आए सैकड़ों पेड़ धराशायी हो गए। चक्रवात के बाद इलाके में जमकर बारिश हुई और ओलों ने फसलों पर खूब कहर बरपाया। तूफान के कारण बगदर व छपिया फीडर की बिजली पूरी तरह से ध्वस्त हो गई है और 60 गांवों की विद्युत आपूर्ति ठप हो गई है। इससे डेढ़ लाख की आबादी के लोग अंधेरे में रहने का मजबूर हैं।वहीं, बलरामपुर में बृहस्पतिवार की सुबह लगभग चार बजे मूसलाधार बारिश के साथ जमकर ओले गिरे। सौ से डेढ़ सौ ग्राम तक के ओले देखकर लोग भयभीत हो गए।सुबह अचानक बादलों की गड़गड़ाहट के बीच मूसलाधार बारिश होने लगी। बारिश शुरू होते ही बड़े-बड़े ओले भी गिरने लगे। करीब 15 मिनट तक ओले गिरने का सिलसिला चलता रहा। बड़े-बड़े ओले गिरने के कारण घरो में सो रहे लोग जग गए। घरों के आंगन में सौ से डेढ़ सौ ग्राम तक के ओले देखकर लोग भयभीत हो गए।

खबर से जुड़ी शिकायत और सुझाव के लिए यहाँ क्लिक (CLICK) करें

Leave a Reply

%d bloggers like this: